intraday trading tips for beginners in hindi || इंट्राडे ट्रेडिंग से पैसे कैसे कमाए

शेयर मार्केट में पैसे कमाने के अवसरों की कोई कमी नहीं हैं। अगर समझदारी से निवेश किया जाए तो रिटर्न भी अच्छी मिलती हैं। शेयर बाजार से पैसे कमाने के लिए ट्रेडिंग की जाती हैं

जिसमे लोग शेयर खरीदते है और बेचते हैं। ट्रेडिंग कई तरह की होती हैं, जिनमे से एक Intraday Trading भी हैं। Intraday Trading में एक दिन दिन में शेयर्स खरीदकर बेचे जाते हैं। इसमे अधिकतर उन शेयर्स में निवेश किया जाता है जो घटते बढ़ते रहते हैं।

इंट्राडे ट्रेडिंग अनुभवी लोगो के लिए है जो कम्पनियो की अच्छी समझ रखते हैं। अगर आप अपनी शुरुआत में ही Intraday Trading से पैसे कमाना चाहते हो तो यह लेख आपके लिए ही हैं।

इस लेख में हम आपको ‘इंट्राडे ट्रेडिंग से जुड़ी टिप्स‘ (Intraday Trading Tips in Hindi) के बारे में बताने वाले हैं जिन्हें फॉलो करके आप रोजाना 10-15% कमा सकते हो।

Contents

1 इंट्राडे ट्रेडिंग क्या होती हैं? What is Intraday Trading in Hindi

2 Intraday Trading Tips in Hindi – इंट्राडे ट्रेडिंग से पैसे कमाने की 5 सबसे बेस्ट टिप्स

2.0.1 1. High Trading Volume वाले शेयर्स ख़रीदे

2.0.2 2. मार्केट के चलन को समझे उसे फॉलो करें

2.0.3 3. पहले से खरीदने और बेचने की कीमत तय करे

2.0.4 4. जोखिम का प्रबंधन करना सीखे

2.0.5 5. हमेशा Overtrading से बचे

इंट्राडे ट्रेडिंग क्या होती हैं? What is Intraday Trading in Hindi

Intraday Trading ट्रेडर्स की सबसे पसंदीदा ट्रेडिंग होती हैं। ट्रेडर्स वह लोग होते हैं जो शेयर मार्केट को निवेश से ज्यादा पैसा कमाने का तरीका मानते हैं। बता दे कि शेयर मार्केट में 2 तरीके के लोग होते हैं

:- इन्वेस्टर और ट्रेडर! इन्वेस्टर कम्पनियो को समझते है, उनपर रिसर्च करते है और जब उन्हें संतुष्टि मिलती है तब वह उन कम्पनियो के शेयर खरीदते हैं। यह एक प्रकार से निवेश होता हैं जो बैंक में पैसो की एफडी कराने से कही बेहतर हैं। वही दूसरी तरह होते है

ट्रेडर, जो शेयर बाजार को पैसे कमाने का जरिया माने हैं। ट्रेडर्स शेयर्स की कीमतों में आने वाले उतार चढ़ाव का फायदा उठाते हुए पैसा कमाते हैं। ट्रेडिंग कई तरह की होती हैं जिन्हें अवधि के अनुसार बाटा गया हैं। इनमे से सबसे लोकप्रिय इंट्राडे ट्रेडिंग हैं। इंट्राडे ट्रेडिंग में एक दिन में ही शेयर्स खरीदकर बेचे जाते हैं।

इस प्रकार की ट्रेडिंग में सुबह शेयर खरीदकर शाम को बेचे जा सकते है या फिर अभी शेयर ख़रीदकर कुछ मिनट बाद भी बेचे जा सकते हैं। इंट्राडे ट्रेडिंग में सुबह शेयर खरीदकर दिन में दोपहर या शाम तक अच्छी कमाई की जाती हैं।

इस प्रकार की ट्रेडिंग में शेयर खरीदने का मकसद निवेश करना नहीं बल्कि उससे पैसे कमाना होता है।

शेयर मार्केट से पैसे कैसे कमाये :

Share Market Se Paise Kaise Kamaye

Share Market Me Invest Kaise Kare :

पूरी जानकारी हिंदी में

Intraday Trading Tips in Hindi – इंट्राडे ट्रेडिंग से पैसे कमाने की 5 सबसे बेस्ट टिप्स

Intraday Trading Tips in Hindi

Intraday Trading Tips in Hindi

शेयर मार्केट को लोग अक्सर 2 तरह से देखा करते हैं। पहला निवेश की नज़र से और दूसरा पैसे कमाने की नज़र से। इंट्राडे ट्रेडिंग वही लोग करते हैं जो शेयर बाजार से केवल पैसा कमाना चाहते हैं। काफी सारे ट्रेडर्स देश-विदेश में इंट्राडे ट्रेडिंग के माध्यम से रोजाना के लाखों रुपये भी कमाते हैं।

इस लेवल तक पहुचने के लिए काफी अनुभव होना जरूरी हैं। लेकिन अगर आप इंट्राडे ट्रेडिंग शुरू करने जा रहे हो तो आप कुछ इंट्राडे ट्रेडिंग टिप्स (Intraday Trading Tips in Hindi) का सहारा ले सकते हो। इस लेख में हमने 5 मुख्य Intraday Trading Tips in Hindi के बारे में बात की हैं।

1. High Trading Volume वाले शेयर्स ख़रीदे

किसी भी इंट्राडे ट्रेडर का शेयर खरीदने का उद्देश्य उसे उस ही दिन बेचकर पैसे कमाना होता हैं। वह कभी भी शेयर खरीदकर उसकी डिलीवरी नही लेते। जब भी कोई इंट्राडे ट्रेडर शेयर खरीदता है तो वो ‘ओपन पोजीशन’ तैयार करता है, जिसमे उसे एक समय तय करना पड़ता हैं और अगर वह उस समय तक स्टॉक नही बेचता है तो उसे पैसे देकर वह स्टॉक खरीदना पड़ता है और वह किसी अन्य दिन हो उसे बेच पाता हैं। ट्रेडर की ओपन पोजीशन में ट्रेडिंग वॉल्यूम महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं। अधिकतर ट्रेडर केवल शेयर्स की कीमत पर ध्यान देते हैं क्योंकि उन्हें शेयर्स कम कीमतों में खरीदकर अधिक कीमतों में बेचना होता हैं। लेकिन वह ट्रेडिंग वॉल्यूम पर ध्यान देना भूल जाते हैं जिससे कि कई बार भारी नुकसान का सामना करना पड़ता हैं। अगर आप ट्रेडिंग वॉल्यूम नही समझते तो बता दे कि ट्रेडिंग वॉल्यूम वह टोटल नम्बर होता है जितनी बार कम्पनी शेयर्स को ट्रेड किया जाता हैं। अगर ट्रेडिंग वॉल्यूम कम हो तो ट्रेडर को व्यापारी को अपनी तरलता (लिक्विडिटी) को कम करने वाले शेयरों को खरीदना पड़ सकता है। अतः आपको शेयर खरीदते वक्त ट्रेडिंग वॉल्यूम का ध्यान भी रखना होगा।

2. मार्केट के चलन को समझे उसे फॉलो करें

अगर आप शेयर बाजार में इंट्राडे ट्रेडिंग से अच्छा पैसा कमाना चाहते हो तो उसके लिए आपको मार्केट के चलन की पहचान करना सीखना होगा। आपको समझना होगा कि मार्केट में क्या ट्रेंड चल रहा हैं और उसे फॉलो करते हुए शेयर खरीदना होगा। इससे आपको इंट्राडे ट्रेडिंग में सबसे अधिक फायदा होगा। यह काम कोई आसान काम नहीं हैं। इस स्टेप में आपको काफी सतर्कता के साथ काम लेना होगा क्योंकि एक छोटी सी चूक से आप गलत शेयर खरीद लोगे और भारी ननुकसान होगा। बाजार की वोलैटिलिटी के कारण ट्रेंड्स लगातार बदलते रहते हैं जिससे की कम्पनियो के शेयर्स की कीमत घटती बढ़ती रहती हैं। मार्केट के चलन को समझने में बाद उस सेक्टर की कम्पनियो के बारे में जानकारी लेकर उनके शर्स खरीदना होता हैं। जब शेयर्स कि कीमत ऊची जाए तो उन शर्स को बेच देना होगा। जब ट्रेंड चलता है तो कम्पनियो के शेयर्स की कीमत लगातार बढ़ती हैं और उसके बाद कीमत गिरने लगती हैं। किसी भी इंट्राडे ट्रेडर्स को मार्केट के ट्रेंड्स के खिलाफ नही जाना चाहिए वरना भारी नुकसान का सामना करना पड़ सकता हैं।

3. पहले से खरीदने और बेचने की कीमत तय करे

अगर आप इंट्राडे ट्रेडिंग कर रहे हो और आपको पता हैं कि अपकिस कम्पनी के शेयर्स आज खरीदोगे तो पहले से ही शेयर्स खरीदने और बेचने की कीमत सेट करके रखे। एक स्टॉक खरीदने के बाद बाजार की वोलैटिलिटी आपको तुरन्त फैसले लेने के लिए फोर्स कर सकती हैं लेकिन ऐसा न होने दे। इसके कारण आपको फायदा भी हो सकता है तो लॉस भी हो सकता हैं। ऐसे समय मे अधिकतर सम्भवनाये लॉस की ही होती हैं। आप पहले से ही समय या कीमत निर्धारित करके रखे जिससे कि आप अपने ख्यालातों और फैसलों को काबू ने रख सकेंगे। अगर आप ट्रेड से पहले ही कीमत तय करके रखोगे तो इससे आपको लॉस नही होगा। कई बार ऐसी परिस्थितिया आती हैं जब हम लालच में अधिक स्टॉक खरीद लेते हैं या फिर कई बार डर की वजह से स्टॉक को जल्द बेचना चाहते हैं। अगर आप इंट्राडे ट्रेडिंग कर रहे हो तो इसके लिए आप पहले से ही अपने दिमाग मे शेयर्स खरीदने और बेचने की कीमत और समय को तय करके रखे। इस तरह से आप अच्छा प्रॉफिट कमा सकते हो और ज्यादा लॉस से भी बच सकते हो। खास बात की आपको बाद में पछतावा भी नही होगा। आपको स्टॉक ऐसे समय पर खरीदना होगा जब स्टॉक की कीमत काफी गिर जाएगी और उसके बाद केवल कीमत उठना ही बाकी रहेगा और ऐसे समय पर स्टॉक बेचना होगा जब आपको लगे कि आप अच्छा प्रॉफिट कमा रहे हो। लालच में आकर कभी भी अपने प्रॉफिट को लॉस में ना बदलें।

4. जोखिम का प्रबंधन करना सीखे

एक सफल इंट्राडे ट्रेडर हमेशा जोखिम यानी कि रिस्क का प्रबंधन करके रखता हैं। अगर आप इंट्राडे ट्रेडिंग कर रहे हो तो आपको प्रॉफिट कमाते समय अपनी रिस्क एफिशिएंसी को भी मैनेज जॉन होगा। प्रॉफिट कमाते समय आप सबसे पहले लगाए गए पैसो को निकालने पर ध्यान दे और उसके बाद प्रॉफिट के बारे में सोचे। इस तरह से जोखिम का बेहतरीन प्रबंधन किया जा सकता हैं। स्टॉप-लॉस जैसी तकनीकों का फायदा उठाकर आती है निश्चिंत कर सकते हैं कि आपको कोई नुकसान नहीं हो रहा और आप जोखिम का बेहतरीन प्रबंधन कर रहे हैं। अनुभव इसे अनुभवी इंट्राडे ट्रेडिंग कभी कबार बाजार की चालों से मात खा जाते हैं तो ऐसे में जोखिम का प्रबंधन करना काफी जरूरी हो जाता है। इंट्राडे ट्रेडिंग को शेयर बाजार में सबसे जोखिम भरी ट्रेडिंग में से एक माना जाता है। इस प्रकार की ट्रेडिंग में जितनी संभावना फायदे की होती है उतनी संभावनाएं नुकसान की भी होती है। स्टॉप लॉस जैसी तकनीकों में ट्रेडर पहले से ही शेयर बेचने की कीमतें तय करके रखता है जिससे कि भारी नुकसान होने से बचा सकता है। यह सबसे बेहतरीन Intraday Trading Tips in Hindi में से एक हैं।

 5. हमेशा Overtrading से बचे

अधिकतर लोगों को शेयर बाजार में Intraday Trading की शुरुआत में होने वाले नुकसान का सबसे बड़ा कारण ओवरट्रेडिंग होती हैं। इस प्रकार की ट्रेडिंग में ट्रेडर लालच में या फिर नुकसान को कवर करने के जोश में जरूरत से ज्यादा ट्रेड कर देता है और भारी नुकसान जी चपेट में आ जाता है। यह अधिकतर नए ट्रेडर ही करते है जिन्हें बाजार और ट्रेडिंग का ज्यादा अनुभव नही रहता। अगर आप शेयर बाजार में इंट्राडे ट्रेडिंग की शुरुआत ही कर रहे हो तो आपके लिए दिन की एक ट्रेडिंग ही काफी होगी। धीरे-धीरे अनुभव के बढ़ने के साथ आप दिन में दो या तीन ट्रेडिंग कर सकते हैं लेकिन इससे अधिक ट्रेडिंग करना सही नहीं होता। ओवरट्रेडिंग करने से आप अपने एक ट्रेड पर ध्यान नही दे पाओगे और इंट्राडे ट्रेडिंग में हमेशा ध्यान बहुत ज्यादा जरूरी होता हैं। अगर आप केवल एक ट्रेडिंग करोगे तो उसमें आप अपना पूरा ध्यान लगा सकोगे। इससे आपको अच्छा प्रॉफिट मिलेगा। वही शुरुआत में ही एक से अधिक ट्रेडिंग से आपका ध्यान बटेगा जिससे कि जोखिम भरे इस बाजार में नुकसान की सम्भवनाये और भी बढ़ जाएगी।

Leave a Comment